UPI दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी:—

April 2009 में सभी भुगतान को एक  मे जोड़ने के लिए National Payments Corporation of India (NPCI), का गठन किया गया। March 2011 में RBI ( reserve Bank of India) ने पाया कि इंडिया में एक व्यक्ति ने 6 non cash transactions किए जबकि 10मिलियन रिटेलर्स card से transaction करने के लिए तैयार थे। इस डिजिटल transaction की गैप को पूरा भरने के लिए Rbi ने 2012 में 4 साल के लिए एक vision statement दिया जिसके तहत safe, Efficient, Accessible, inclusive, Interoperable, Authorised payment system India में बनाया जायेगा। इस system को Green initiative होना था। जिसके तहत Domestic payment Market में पेपर के इस्तेमाल को कम करना था। UPI का डेवलपमेंट कुछ ऐसे होगा की 2016 में इसे पब्लिक में लॉन्च कर दिया गया अपने लांच होने के बाद ही UPI ने India में exponetial growth देखा जिससे India World का सबसे बड़ा real time payment Market बनकर उभरा ACI world wide और दुनिया के डांटा के अनुसार 2020 में इंडिया ने 25 बिलियन यूपीआई पर आधारित ट्रांजैक्शन देखें जो यूनाइटेड स्टेट और चाइना से काफी ज्यादा थी UPI की सफलता को देखकर दिसंबर 2019 में Google ने federal reserve board को सुझाव दिया कि इंडिया के यूपीआई मॉडल को सोर्स आफ इंस्पिरेशन को मानते हुए भी एक Real time payment system डेवलपमेंट करने की जरूरत है। 
Economist intelligence unit report 2021के अनुसार UPI ने दुनिया के स्तर पर इंडिया को दुनिया की नेता की तरह हो खड़ा कर दिया है जो चाइना आओ साउथ कोरिया जैसे देशों से आज इस Domain में काफी आगे निकल चुका है आज मैं आप सभी को बताने वाला हूं कि कैसे India  UPI के जरिए Digital transaction system एक revolution लाने में सक्षम हुआ है। हम upi के  global prospect पर भी बताएंगे कि जिससे utilised कर India master card और visa card के ट्रांजैक्शन प्लेटफार्म मैं रिप्लेस कर देगा। 

How to transact using Google Pay, PhonePe, Paytm, UPI Money without Internet:—




Post a Comment

Previous Post Next Post